योगी सरकार के इस फैसले से भाजपा को बड़ा झटका,अब खाता खोलने के लिए…

0
723

उत्तर प्रदेश में लोकसभा चुनाव के लिए बिगुल बज चुका है,चुनाव की तैयारी सियासी पार्टियां तेज़ी से कर रही हैं, इसी बीच उत्तर प्रदेश की राजधानी से एक बड़ी खबर आ रही है,प्रदेश के 20 लाख कर्मचारी योगी सरकार के सामने खड़े हो गए हैं,कई मांगों को लेकर हड़ताल पर चले गए हैं,कर्मचारियों के हड़ताल पर जाते ही योगी सरकार ने भी बड़ा क़दम उठा दिया है।

चुनावी साल में जहाँ सरकारे वोटरों को खुश करने में लगी है वही योगी सरकार इसका उलटा कर रही है.योगी सरकार ने हड़ताल कर रहे प्रदेश में आवश्यक सेवा अनुरक्षण अधिनियम (एस्मा) लगा दिया गया है,इसका मतलब यह होता है कि आने वाले छ महीने तक कोई भी सरकार से जुड़ा विभाग हड़ताल पर नहीं जा सकता है.

Photo Source-ANI

जानकारों की माने तो कर्मचारियों का एक बड़ा वर्ग भाजपा को वोट देता रहा है ऐसे में कर्मचारियों की नाराज़गी भाजपा को नुक्सान पहुंचा सकती हैं.कर्मचारियों को नाराज़गी को दूर करने के बजाय योगी सरकार ने ऐसा स्टेप ले लिया है जिससे प्रदेश के कर्मचारी भड़क सकते है.प्रदेश में पहले ही विपक्ष ने महागठबंधन बना लिया है ऐसे में इस मामले के बाद भाजपा का चुनावी अभियान को झटका लगना तय माना जा रहा है.

Photo Source-NDTV

ये है कर्मचारियों की मांगे-
दरअसल राज्य के 20 लाख कर्मचारी पुरानी पेंशन की मांग कर रहे हैं,इसी के साथ उनकी और भी कई मांगें हैं,काफी दिनों से यह मांग की जा रही थी,लेकिन जब सरकार ने इस पर कोई कदम नहीं उठाया,तो कर्मचारियों को मजबूरी में हड़ताल पर जाना पड़ा है।

सरकारी कर्मचारियों ने अपने इस हड़ताल को महाहड़ताल का नाम दिया है,इस महाहड़ताल में 150 से ज्यादा सरकारी कर्मचारी संगठन हिस्सा ले रहे हैं, इस महाहड़ताल के बारे में हरि किशोर तिवारी ने मीडिया से बात करते हुये कहा है कि सरकार अगर हमारी बात को नहीं मानती है,तो हम इसी तरह आने वाले 12 फरवरी तक हड़ताल जारी रखेंगे।

वहीं सरकार की तरफ से एस्मा लगाए जाने के बाद कहा गया है कि अब इस हड़ताल को कानूनी नहीं कहा जा सकता है,इसलिए जो कर्मचारी काम पर नहीं आ रहे हैं,उनके वेतन को काटा जाएगा।वहीं हड़ताल के बाद लखनऊ जिलाधिकारी ने भी बड़ा क़दम उठा दिया है,जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने लखनऊ के तमाम थानों को धारा 144 लगाने का आदेश जारी कर दिया है,इस आदेश के बाद अब हड़ताल पर गए कर्मचारी एक साथ जमा नहीं हो पाएंगे, वहीं झंडे लेकर भी नहीं चल पाएंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here