ओवैसी की इस मांग का शिवसेना ने फिर किया समर्थन,कहा-मुस्लिम को भी मिलना चाहिए…

0
4970

इस समय विभिन्न समुदाय आरक्षण की मांग कर रहे है महाराष्ट्र में मुस्लिम समुदाय की मांग है कि उसे भी आरक्षण मिले लेकिन हाईकोर्ट की हरी झंडी मिलने के बाद भी महाराष्ट्र सरकार ने मुस्लिम को आरक्षण ना देने का फैसला किया है.इसको लेकर महाराष्ट्र में AIMIM के विधायक सरकार की आलोचना कर रहे है.AIMIM के मुस्लिमो के लिए आरक्षण की मांग का शिवसेना ने भी समर्थन किया है.

शिवसेना ने महाराष्ट्र में मुस्लिम कोटा को अमल में लाने के लिए अपना बयान जारी किया है.शिवसेना नेता सुनील प्रभु ने मंगलवार को विपक्षी दल द्वारा शुरू की गई चर्चा में अपनी पार्टी की तरफ से महाराष्ट्र में मुस्लिम आरक्षण का समर्थन किया.गौरतलब है कि शिवसेना का ये ब्यान ऐसे समय आया है जब पार्टी 24 और 25 नवंबर को अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए रैली कर रही है इसमें खुद पार्टी अध्यक्ष उद्दव ठाकरे रहेंगे.इसको लेकर शिवसेना ने नया नारा दिया है-‘हर हिंदू की यही पुकार,पहले मंदिर-फिर सरकार’.

आरक्षण पर बात करते हुए शिवसेना नेता सुनील प्रभु ने कहा कि सरकार को यह बताना चाहिए कि राज्य में मौजूदा 52 प्रतिशत कोटा को बिना छेड़े मराठाओं को आरक्षण देगी.शिवसेना चीफ सुनील प्रभू ने मुस्लिम के अलावा धांगड़ और लिंगायत समुदाय को भी आरक्षण देने की बात कही है.पिछले कुछ समय से शिवसेना हिंदुत्व की राजनीति के साथ मुस्लिम के मुद्दे पर भी अपने रुख पर बदलाव दिखा रही है.जहाँ शिवसेना पीएम मोदी पर हमलावर रहती है वही मुस्लिम समुदाय में भी पार्टी की पहुच बनाने के लिए काम कर रही है.नगरनिकाय चुनावों में शिवसेना ने दर्जनों मुस्लिम उम्मीदवारों को प्रत्याशी बनाया था.मुस्लिम आरक्षण के लिए समर्थन शिवसेना की इसी नीति का हिस्सा माना जा रहा है .

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here