इस मुस्लिम देश ने पीएम मोदी से मांगी मदद,भारत के रुख पर दुनिया की नज़र

0
1297
Photo Source-rediff

भारत के पडोसी देश मालदीप में घटनाक्रम तेज़ी से बदला है,हिन्द महासागर में सामरिक दृष्टि से ख़ास इस देश में भारत का दबदबा रहा है लेकिन पिछली सरकार ने भारत के बजाय चीन को तरजीह दी हलाकि चुनावों में अब्दुल अमीन की सत्ता के खिलाफ जनता ने मतदान किया जिसके बाद एक बार फिर भारत के समर्थन करने वाली सरकार सत्ता में आ गयी है.

वही अब मालदीप भारत से मदद की आस लगा रहां है.दरअसल मालदीप पर काफी विदेश क़र्ज़ हो चुका है.विदेशी क़र्ज़ से सामना करने के लिए मालदीप भारत का सहयोग चाहता है.सोमवार को मालदीव के विदेश मंत्री अब्दुल्ला शाहिद ने टाइम्स ऑफ इंडिया से कहाकि पिछली मालदीप सरकार द्वारा लिया गया लोंन मौजूदा हालात में काफी परेशानियाँ खड़ी कर रहा है.

उन्होंने कहाकि मालदीव को अपने कुल बाहरी लोन का 70 फीसदी चीन को देना है.बताते चले कि मालदीव के विदेश मंत्री अब्दुल्ला शाहिद इस समय भारत दौरे पर हैं.वो चार दिन के दौरे के दौरान 26 नवंबर को विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से मुलाकात करेंगे.विदेश मंत्री अब्दुल्लाह शाहिद ने कहाकि हम देश में मूलभूत जरूरतों को लेकर चिंतित हैं.देश में ताजे पानी की कमी,सीवरेज और हेल्थ सेक्टर जैसे अहम मुद्दे हैं.

उन्होंने कहाकि इसमें भारत पूरी तरह से हमारी सहयोग कर सकता है.हम उम्मीद करते है कि हमारे इस दिक्कत में भारत मदद करे.मैं इस सिलसिले में सोमवार (26 नंवबर) को भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से बात करूँगा.ऐसा माना जा रहा है इस बातचीत में पीएम रेंद्र मोदी भी शामिल हो सकते हैं.गौरतलब है कि मालदीप के विदेश मंत्री की ये यात्रा मालदीव के राष्ट्रपति इब्राहिम सालेह की यात्रा से ठीक पहले हो रही है.इस यात्रा को भारत से संबंध के लिए लिहाज़ से ख़ास माना जा रहा है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here