ये आईपीएस है बहुत कड़क,सीएम समेत कई दिग्गज नेताओ को भेज चुकी है जेल

0
1512

भारत वर्ष में महिलाओं को देवी की रुप मे पुजा जाता है।लेकिन यह भी सच है कि भारत की पुरुष मानसिक ने महिलाओं को कमज़ोर ही माना है। शायद यही कारण की आज भी ज़्यादातर महिलाएं घर की चार दीवारी मे ही जीवन बिता देती हैं।उनके लिए घर ग्रहस्थी,बच्चे,पति ही उनका जीवन है।
लेकिन अब धीरे धीरे हालात बदल रहे हैं महिला शक्ति करण की बातें हो रही हैं।

महिलाएं घर से बाहर निकल रही हैं और पुरुषों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर चल रही हैं।ख़ास तौर पर महानगरों में महिलाओं का काम करना अब कोई ऐब नहीं माना जा रहा है।आज महिलाएं हर मैदान मे आगे बढ़ रही हैं।शिक्षा हो,खेल हो,नोकरी हो राजनीति हो,हर मैदान मे आप को महिलाएं मिल जाएंगी।कुल मिला कर राष्ट्र निर्माण मे महिलाएं अपना योगदान दे रही हैं।

पुलिस की नोकरी आम तौर पर पूरुषो का काम माना है।खास तौर सीनियर पाज़िशन पर एक कड़क दार अफ़सर की ही कल्पना की जाती है जिससे अपराधी ख़ोफ़ ख़ाते हों।लेकिन अब इस मैदान मे भी महिलाएं आगे आ रही हैं।ऐसी ही एक महिला अफसर का नाम है डी रूपा जिनसे बड़े-बड़े नेता कांपते हैं।

महिला आईपीएस अफसर रुपा काफी तेज तर्रार अफसर के रूप में जानी जाती हैं।वह सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव रहती हैं।वह सामाजजिक मुद्दो पर बिना किसी ख़ोफ़ के बहुत ही बेबाकी से अपनी राय रखती हैं।डी रूपा मौजूदा समय में कर्नाटक में आइ जी. के पद पर कार्यरत हैं।इससे पहेल वह डीआईजी के पद पर कार्यरत थीं।

वह अपनी ड्यूटी पूरी इमानदारी से निभाती हैं।2004 में बीजेपी की केंद्रीय मंत्री उमा भारती के नाम वारंट कटने पर बहादुर डी रुपा अकेले ही उनको गिरफ़्तार करने निकल पड़ी थी।जबकि उमां भारती उस समय मंख्‍यमंत्री के पद पर थी।इसके अलावा जय ललिता की करीबी नेता शशिकला को जेल कें अंदर‍ मिल रही वीआईपी सुविधाओं का खुलासा करने वाली अफ़सर भी डी रुपा ही थीं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here