सपा-बसपा गठबंधन पर शिया धर्म गुरु बोले-अब मोदी को मुस्लिम के प्रति…

0
430

मशहूर आलिम और शिया धर्मगुरु मौलाना कलबे जवाद ने सपा बसपा गठबंधन,बाबरी मस्जिद-राम मंदिर और मुस्लिम मसायल को लेकर खुल कर बात की है,उन्होने समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी के गठबंधन को सराहा है और कहा है कि लोकसभा चुनाव में गठबंधन का अच्छा नतीजा निकलेगा।

मौलाना ने कहा है कि बीते लोकसभा चुनाव में सपा बसपा को ज़्यादा वोट मिले थे,इस बार यह दोनों साथ हैं,तो इनकी ज़्यादा सीटें आने की उम्मीद है, और इस गठबंधन से भारतीय जनता पार्टी को भी बड़ा खतरा हो गया है,इसलिए अगर भारतीय जनता पार्टी उत्तर प्रदेश में अच्छा प्रदर्शन करना चाहती है तो उसे मुसलमानों को साथ लेकर चलना होगा।

मौलाना ने कहा है कि भाजपा इस बार अगर मुसलमानो को साथ लेकर नहीं चलती है,तो उसे बुरे नतीजे का सामना करना पड़ेगा,भाजपा को इस बार उत्तर प्रदेश में ज़्यादा मेहनत करनी पड़ेगी।भाजपा को अभी मुसलमानों के लिए कुछ ऐसे काम करने पड़ेंगे,जिस से मुस्लिम भाजपा के करीब आ सकें।
वहीं मौलाना ने बाबरी मस्जिद और राम मंदिर पर भी बयान दिया है.

उन्होंने कहाकि मामला अदालत में चल रहा है,अदालत पर किसी का दबाव नहीं है,अदालत से जो भी फैसला आएगा,उसे सभी को मंजूर होगा,वहीं मौलाना ने यह भी कहा कि हम चाहते हैं कि लोकसभा चुनाव से पहले अदालत का फैसला न आए, ताकि किसी को इसका लाभ न मिल सके।

मौलाना का कहना है कि अगर लोकसभा चुनाव से पहले मामले का फैसला आ जाता है,तो कुछ पार्टियां इसका चुनाव में फायदा उठाने की कोशिश करेंगी, इस लिए यह फैसला चुनाव के बाद आना चाहिए।वहीं मामले में ज़्यादा देरी होने के सवाल पर मौलाना ने कहा है कि यह कोर्ट का काम है,कोर्ट में कोई भी फैसला जनता के चाहने से नहीं होता है,कोर्ट अपने हिसाब से काम कर रही हैं। जो भी फैसला आएगा,उस में सभी को न्याय मिलेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here