सपा-बसपा के गठबंधन को झटका,कांग्रेस ने दिग्गज मुस्लिम नेता को दिया टिकट,भाजपा में…

0
844

पूर्वांचल की मुस्लिम बाहुल्य सीट डुमरियागंज में कांग्रेस ने अपनी रणनीति बदल दी है,इस वज़ह से महागठबंधन में अब थोड़ी निराशा है वही भाजपा खेमा गदगद है.कांग्रेस ने जमीन से जुड़े नेता मोहम्मद मुकीम को डुमरियागंज सीट से प्रत्याशी बना दिया है.अभी कांग्रेस ने इसकी अधिकारिक घोषणा नही की है लेकिन एक स्थानीय पत्रकार से उन्होंने इस बात की पुष्ठी की है.

डुमरियागंज में पहले किसी ब्राह्मण प्रत्याशी के मैदान में उतारने की उम्मीद थी कांग्रेस ने अपने नेता मोहम्मद मुकीम को भी इसके लिया मना लिया था.लेकिन कांग्रेस में किसी एक ब्राह्मण नेता के नाम पर सहमती नही बन पाई.इसके बाद पूर्व सांसद मोहम्मद मुकीम को कांग्रेस के केन्द्रीय कार्यलय से बीते शाम 4.30 बजे टिकट फाइनल होने की जानकारी दी गई.

कांग्रेस के इस फैसले से भाजपा के प्रत्याशी जगदम्बिका पाल का खेमा गदगद है.दरअसल इस बार डुमरियागंज लोकसभा सीट में तीन मुस्लिम उम्मीदवार है.जहाँ गठबंधन ने आफ़ताब आलम को टिकट दिया है वही कांग्रेस पार्टी ने मोहम्मद मुकीम को टिकट देकर गठबंधन के सामने बड़ी चुनौती रख दी है इसके अलावा पीस पार्टी अध्यक्ष डॉक्टर अयूब भी यही से चुनाव लड़ रहे है.

भाजपा को विपक्ष के उम्मीदवार के चयन के बाद इस सीट पर जीत नजर आ रही है.गौरतलब है कि डुमरियागंज लोकसभा से दो बार से जगदम्बिका पाल सांसद है.2009 में वो कांग्रेस के टिकट से चुनाव लड़कर जीते थे वही 2014 में वो भाजपा से टिकट जीते.आपको बता दे कि डुमरियागंज लोकसभा में तीस प्रतिशत के आसपास मुस्लिम आबादी है.

मुस्लिम के अलावा सवर्ण मतदाताओ की संख्या भी यहाँ 17 पर्तिशत के आस पास है जबकि दलित मतदाता करीब 16 प्रतिशत है.यादव मतदाताओ की जनसख्या 7 प्रतिशत के आसपास है.बाकी आबादी पिछड़े समुदाय की है.गौरतलब है कि भाजपा प्रत्याशी भी पिछड़े समुदाय के है.कुल मिलाकर कांग्रेस ने मोहम्मद मुकीम को टिकट देकर यहाँ के चुनावी रण को मुश्किल और रोचक बना दिया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here