शादी की पहली रात शौहर,बीबी क्या और कैसे करे?….मौलाना फैज़ सयेद का बयान सुने

0
3830
FI

जब कोई इंसान निक़ाह करे तो अपनी बीवी के साथ उल्फ़त और मोहब्बत का मामला रखे और जब उसका निक़ाह हो तो पहली रात या जब पहली बार वह अपनी बीवी से मिले तो उसे कोई तोहफा या खाने की चीज दे ये सुन्नत स साबित है याद रखे.नबीये करीम सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम के ताल्लुक स आता ह मुसनद ए अहमद की रिवायत है और असमा बिन्ते यजीद रज़ियल्लाहु अन इसकी गवाह है.

वह कहतीं हैं कि जब हमारे प्यारे नबी का निक़ाह हुआ तब हज़रत आयशा रज़ियल्लाहु अन को मैंने ही तैयार किया.मैन ही आपको सजाया.जब मैंने आपको तैयार किया और उसके बाद ये कहलवा भेजा.नबीये करीम सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम से कि हज़रत आयशा तैयार हैं और फिर हमारे नबी उनके पास आये,आपको एक दूध का प्याला दिया गया.हमारे प्यारे नबी ने उस दूध के प्याले से दूध पिया और फिर उस प्याले को आयशा की तरफ बढ़ा दिया.

डेमो

तब आयशा रज़ियल्लाहु अन फरमाती हैं कि उस वक़्त उनकी थोड़ी सी शर्म आई,झिझक महसूस हुई तो आपने इनकार कर दिया।असमा कहती हैं कि मैने गुस्सा किया और उन्हें डांटा और कहा कि रसूलुल्लाह दे रहे हैं न फिर तुम क्यों नहीं ले रही हो।तो उन्होंने प्याले की लिया और थोड़ा सा उसमें से दूध पी लिया।पीने के बाद रसूलुल्लाह ने फरमाया तुम लोग भी पीयो,और भी औरतें बैठी थीं क्योंकि हज़रत आयशा औरतों में बैठी थीं।

और वो औरतें पर्दे में थी पूरी तरह,तो आपने कहा तूम सब भी पियो।तब उन्हीने कहा अल्लाह के रसूल आप पहले पी ले ज़्यादा बेहतर होगा और आपने दुबारा पिया और फिर उस प्याले को असमा रज़ियल्लाहु अन को दे दिया।वह कहती हैं कि मैंने उस प्याले को लिया और उसको घूमने लगी ताकि मैं भी होठ लगाऊ जहाँ से हमारे रसूल ने पिया था।इससे पता चला कि सहाबा के साथ-साथ सहाबियात भी कितनी मोहब्बत करती थीं हमारे नबी से।ये मोहब्बत का ही तकाज़ा है कि जिसको आप पसंद करें उसकी हर चीज़ को पसंद करें।

मौलाना फैज सय्यद

इससे ये हुआ कि पहले आप ने पिया फिर आयशा ने पिया फिर नबी ने बाकी औरतों से पीने को कहा तो उन सब ने कहा कि नहीं नहीं, इस पर नबी ने कहा कि देखिए दो चीजें एक साथ नहीं हो सकती है “भूख और झूठ” इसलिए पीलो पीलो ,मतलब क्यों शर्मा रही हो पी लो।तुम को भूख है लेकिन तुम झूठ बोल रही हो।मै जनता हू कि तुम सबको भूख है,तब उन औरतों ने भी पी लिया।तो यहाँ हमारे प्यारे नबी पहली बार अपनी बीवी से मिले तो उन्होंने उनको कुछ दिया मतलब खाने पीने की चीज़।

ये रहमत का हिस्सा है कि किसी को खिलाना पिलाना,बहुत से लोग बहुत कंजूस होते है किसी को कुछ खिलाते पिलाते नहीं हैं चाहे वह उनकी बीवी हो.बच्चे हों या कोई हो।इसलिए कोई भी इंसान जब अपनी बीवी से पहली बार मीले तो उसको कुछ खाने पीने को दे या कुछ भी दे।जैसे आज के दौर मे आप मिठाई ले जा सकते हैं या कुछ और जिससे मोहब्बत और उल्फ़त बढ़े।हदिया एक ऐसी चीज़ है जिसे देने से मोहब्बत बढ़ती है।

जैसे किसी से कोई काम हो तो आप उससे कहते होंगे कि चलो खाने पर या आज हम लोग कह किसी ढाबे पर खाना खाने।अकसर जब आपको प्रमोशन चाहिए होता है तो आप अपने बॉस को खाने पर बुलाते हैं।कहने का मतलब ये है कि बीवी से व मोहब्बत करो।और जब भी अपनी बीवी से मिलो तो कुछ ज़रूर दो क्योंकि हमबिस्तरी इसी अमल के बाद शुरू होती है।

दूसरी बात जब आप बीवी से पहली बार अकेले मे मिले तो पहले बिस्मिल्लाह कहे और उसके माथे के पास जो बाल होता है उसको हाथ से पकड़े और पकड़ने के बाद अल्लाह का नाम ले और दुआ करे।और ये दुआ एक बार करे जब आप अपनी बीवी से अकेले में पहली बार मिले।औऱ दुआ का मतलब है कि ऐ अल्लाह मै तुझसे इसकी खैर का सवाल करता हूं।

औऱ जिस खैर पर तूने इसे पैदा किया उस खैर का सवाल करता हूं और फिर फरमाया औऱ मैं पनाह मांगता हूं तुझसे इसकी शर से जिस शर से तूने इसे पैदा किया है औऱ ये दुआ नई सवारी खरीदने की भी है और ये दुआ नया ग़ुलाम खरीदने की भी है और ये दुआ निक़ाह के बाद बीवी से पहली बार मिलने की भी है तीनो के लिए है।

हमारे नबी ऊँट खरीदते तो उसकी कुहन पकड़के ये दुआ पढ़ते।बीवी से पहली बार मिलने पर ये दुआ पढ़ते।उसके बाद एक दुआ पढ़े ,ये दुआ कॉमन है इस दुआ को याद रखे ताकि हर बार जब शौहर बीवी हम बीस्तर हो तब दुआ पढ़े।लोग अक्सर ये पूछते हैं कि अगर ये दुआ न पढ़े तो क्या होगा?नहीं बोल पाय तो क्या हुआ?तो मै लोगो से पूछता हूं कि क्या आप गाड़ी चलाते हैं?तो लोग बोलते हैं हाँ।

तो मैं पूछता हूं कि अगर उसमे सीट न हो तो क्या होगा? हॉर्न नहीं हुआ तो क्या होगा?इंडिकेटर नहीं चले तो क्या होगा? तो आप लोग बोलते हैं कि नहीं इस सब के बिना गाड़ी अच्छी नहीं लगती है।इस सब के बिन गाड़ी अधूरी है।मतलब पूरी दुनिया हर चीज़ को कंप्लीशन की तरफ ले जा रही है मुकम्मल की तरफ ले जाते हैं इसलिए ये दुआ ज़रूर पढ़े…..ये आर्टिकल मौलाना फैज़ सय्यद के यूट्यूब विडियो में किये गये ब्यान के आधार पर लिखा गया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here