सऊदी अरब ने तेल की कीमतों में किया बड़ा बदलाव,पीएम मोदी की तारीफ़

0
325
Photo Source-Oneindia

नई दिल्ली-कच्चे तेल की गिरती कीमतों को थामने के लिए उत्पादन घटाया जाए या नहीं, इसे लेकर बड़े तेल उत्पादक देश अंतिम फैसला करने वाले हैं। हालांकि इससे पहले वह दुनिया के बड़े नेताओं की राय पर विचार करना चाहते हैं।सऊदी अरब के तेल मंत्री खलील अल फलीह मोदी की मुखरता के मुरीद हैं।कतर के ऊर्जा मंत्री साद अल-काबी ने सोमवार को इसकी घोषणा की।काबी ने यहां एक संवाददाता सम्मेलन में कहा,‘‘कतर ने ओपेक की सदस्यता छोड़ने का निर्णय लिया है जो जनवरी 2019 से प्रभावी होगा।’’ 

पेट्रोलियम निर्यातक देशों के समूह (ओपेक) की बैठक में संवाददाताओं से बातचीत में फलीह ने कहा,“हम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विचारों को गंभीरता से लेते हैं, जो (अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की तरह) इस मुद्दे पर मुखर रहे हैं।हमने जी20 सम्मेलन के दौरान ब्यूनस आयर्स में उनसे मुलाकात की थी। निजी तौर पर उन्होंने अपने मुद्दों को बहुत मजबूती के साथ रखा कि वह भारतीय उपभोक्ताओं का ख्याल रखते हैं और उसे लेकर बहुत गंभीर हैं। मैंने भारत में भी उन्हें तीन ऊर्जा कार्यक्रमों में देखा है, जहां वह काफी मुखर थे।”

मोदी की अगुवाई में विश्व नेताओं ने ओपेक से कच्चे तेल की उचित एवं जवाबदेह कीमत तय करने को कहा था। पेट्रोलियम निर्यातक देशों के समूह (ओपेक) की बैठक में संवाददाताओं से बातचीत में फलीह ने कहा,”हम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विचारों को गंभीरता से लेते हैं,जो (अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की तरह) इस मुद्दे पर मुखर रहे हैं।आपको बता दे कि,भारत तेल का उपयोग करने वाला दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा देश है। भारत अपनी ऊर्जा संबंधी 80 प्रतिशत जरूरतों को पूरा करने के लिए आयात पर निर्भर है।इसी बात को सऊदी अरब समेत ओपेक देशों ने तवज्‍जो दी।इससे पहले सऊदी अरब के ऊर्जा मंत्री ने प्रधानमंत्री मोदी की तारीफ करते हुए कहा था कि उनके कार्यकाल में भारत में कारोबार करना काफी आसान हो गया है। ऊर्जा मंत्री खालिद ए अल-फलीह ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी भारत में अच्छे दिनों के वादे को पूरा कर रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here