वो 4 जानवर जिनको मा’रने से हजरत मोहम्मद(स.अ.) ने मना किया है?अफ़सोस करने से बेहतर पढ़ ले इसे

0
1388
४ जानवर

दोस्तों रसूल अल्लाह सल्लल्लाहो वाले वसल्लम को इस दुनिया के लिए रहमत बनाकर भेजो और सिर्फ इंसानों तक ही महदूद नहीं रखा बल्कि बेजुबान जानवर भी इस रहमत से फ़ैज़ ए आब होते है.दोस्तों इस्लाम ने इंसान को जानवरों का हक अदा करने की भी बात कही है.दोस्तों अस्सलुमुलकुम वा रहमतुल्लाहि व बरकातहू.

दोस्तों आज हम आपको यह बताने जा रहे हैं कि नबी करीम सल्लल्लाहू अलेही वसल्लम ने हमें 4 जानवरों को मार-ने से मना किया दोस्तों आका करीम सल्लल्लाहो वाले वसल्लम ने हमें जिन जानवरों को मार-ने के लिए मना किया है.आइए आपको बताते हैं वह कौन से जानवर हैं दोस्तों आइये आपको एक हदीस बताते है.

मधु मक्खी

अबू दाऊद हदीस नंबर 5267 नबी करीम सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम ने इन चार जानवरों को मार-ने से मना फ़रमाया उनमें से सबसे पहला जानवर यह है चींटी लेकिन दोस्तों हम इस बात का ख्याल नहीं रखते हैं.हम जब चलते हैं तो यह नहीं देखते कि हमारे पैर के नीचे क्या आ रहा है और हमारे हाथ के नीचे क्या आ रहा है.

इसके साथ ही जैसे कभी चीनी में चींटी आ जाती है तो लोग उसे मार देते हैं ऐसा बिल्कुल नही करना चाहिए। दोस्तों इसी तरह से दूसरे नंबर पर शहद की मक्खी आती है दोस्तों आजकल रेडिएशन बहुत ज्यादा होता है जिसकी वजह से मधुमक्खियां म-र जाती हैं हम इस चीज को रोक तो नहीं सकते हैं. लेकिन इस चीज का ख्याल रखें कि मधुमक्खी को नहीं मा-रना चाहिए क्योंकि हमारे हजरत मोहम्मद मुस्तफा सल्लल्लाहो वाले वसल्लम ने मधुमक्खियों को मा-रने से मना किया है.

नंबर तीन पर हुद हुद परिंदा आता है दोस्तों लोग इसे हुदहुद के नाम से बहुत कम जानते हैं अगर इसका नाम बिल्कुल देसी लैंग्वेज में ढूंढा जाए तो इसे कुट कुट बड़हल कहते हैं वैसे तो यह ज़ियादा जगहों पर नहीं मिलती है लेकिन अभी भी यह परिंदा है।तो आप लोगों से गुजारिश है कि आप इस परिंदे को ना मा-रिये क्योंकि हजरत मोहम्मद मुस्तफा सल्लल्लाहो वाले वसल्लम ने इस परिंदे को मा-रने से मना फ़रमाया है.

नंबर 4 पर अबाबील परिंदा है अबाबील परिंदा शायद ही आज दुनिया में कहीं पाया जाता हो लेकिन इस परिंदे को भी अगर कोई देखे तो ना मा-रे क्योंकि हजरत मोहम्मद मुस्तफा सल्लल्लाहो वाले वसल्लम ने इस परिंदे को भी मार-ने से मना किया है.दोस्तों तो इन 4 जानवरों को हजरत मोहम्मद मुस्तफा सल्लल्लाहो अलेही वसल्लम ने मा-रने से मना किया.

लेकिन दोस्तों आपको बता दे कि अगर कोई जानवर आप को नुकसान पहुंचाता है तो आप उसको मा-र सकते हैं जब तक वह आप को नुकसान ना पहुंचाएं आप उसे नहीं मा-र सकते हैं लेकिन अगर आपको कोई जानवर नुकसान पहुंचाता है तो आप उसे मा-र सकते हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here