मुस्लिम होने पर अलग नज़र से देखने पर अभिनेत्री का छलका दर्द, सुनाई अपनी तकलीफ भरी दास्तां

0
1581

मुम्बई-देशभर में धार्मिक मामलो के बढ़ते मामलो पर बॉलीवुड के सितारे भी अक्सर अपनी राय देते रहे है अब अभिनेत्री दिया मिर्ज़ा ने इस पर अपनी राय ज़ाहिर की.उन्होंने लोगो के मज़हबी होने पर चिंता व्यक्त की है सेक्युलर माहौल में पली-बढ़ी दीया मिर्जा का कहना है कि धर्म के आधार पर किसी की पहचान किए जाने पर उन्हें तकलीफ होती है.

ईसाई पिता और बंगाली मां के घर में जन्मी दीया मिर्जा की परवरिश एक मुस्लिम घर में हई है और उनका कहना है कि उनकी पहचान कभी धर्म,संस्कृति, जाति या समुदाय तक सीमित नहीं रही।दीया ने ‘पीटीआई-भाषा’ से कहा,‘‘मेरी पहचान अभी इस ग्रह के नागरिक और एक मनुष्य की रही है.मुझे तकलीफ होती है जब किसी की पहचान धर्म के चश्मे से की जाती है.

अगर आप इतिहास उठाकर देखेंगे तो,जब-जब इंसान बहुसंख्यकवाद की ओर बढ़ा है तो समावेशिता खो गई और उन्हें कष्ट झेलना पड़ा है.डर के कारण उन्होंने बहुत कुछ सहा है.’’ उन्होंने कहा कि जो लोग विलक्षण विचारधाराओं का प्रचार करते हैं,वे ‘‘हमें नियंत्रित करना चाहते हैं.

अदाकारा ने कहा,‘‘पूर्वाग्रह और तमगे हमें सीमित करते हैं.हमने किसी भी विश्वास,धर्म,समुदाय या देश की जानकारी के साथ जन्म नहीं लिया।हमें ऐसी बातें बताई जाती हैं जिन्होंने नुकसान के अलावा कुछ नहीं किया।हमें उन सब को भूलना होगा।’’

दीया मिर्ज़ा जल्द ही ‘जी5’ की कश्मीर आधारित वेब-सीरिज ‘काफिर’ में नजर आएंगी।यह एक पाकिस्तानी युवती की कहानी है,जो विचित्र परिस्थितियों में भारत आती हैं,जिसके बाद उसके लिए घर वापस लौटना मुश्किल हो जाता है।वेब-सीरिज ‘काफिर’ का प्रसारण 15 जून से होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here