बड़ी खबर-मुख़्तार अंसारी को बड़ी राहत,अब बाहुबली…

0
1218
मुख़्तार अंसारी

उत्तर प्रदेश की राजनीति में बाहुबली नेताओं की लिस्ट में मुख़्तार अंसारी का नाम टॉप पर आता है।एक लंबे वक्त से जेल में बंद है अवतार अंसारी के समर्थकों के लिए एक बड़ी खबर सामने आ रही है लोकसभा चुनाव से पहले यूपी के मऊ सदर से बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी को हाईकोर्ट ने बड़ी राहत दी है।

उन्हें रामसिंह मौर्य और कांस्टेबल सतीश सिंह की ह’त्या के मामले में न्यायमूर्ति सुनित कुमार की एकल खंडपीठ ने बुधवार को सुनवाई के बाद जमानत पर बड़ा फैसला सुनाया है।इससे पहले कोर्ट में उनकी जमानत याचिका कई बार खारिज की जा चुकी है।यहां तक कि मुख़्तार अंसारी की मां के नि’धन के वक्त भी उन्हें जमानत नहीं दी गई थी।

मऊ के विधायक मुख़्तार अंसारी

मुख्तार अंसारी की जमानत की खबर सुनते ही इलाके में उनके समर्थकों के बीच खुशी की लहर दौड़ पड़ी है।बताया जा रहा है कि इस खबर के इलाके में फैलने के बाद मुख्तार अंसारी के समर्थकों में जश्न का माहौल बन गया है और उनके पैतृक आवास मोहम्दाबाद यूसुफपुर में उनके समर्थकों द्वारा मिठाइयां बांटी गई हैं।

अंसारी परिवार को समर्थकों द्वारा बधाइयां दी जा रही है और उनके घर पर लोगों का तांता लगा हुआ है।इस दौरान मुख़्तार अंसारी के पुत्र अब्बास अंसारी ने पिता को मिली जमानत पर खुशी व्यक्त हुए कहा है कि उनके लिए यह खुशी की खबर सामने आना आम जनता, गरीब और मजलूमों द्वारा की गई दुआओं का ही नतीजा है।

मुख़्तार अंसारी

बता दें कि मुख्तार अंसारी को जमानत मिलना बहुजन समाज पार्टी के लिए भी एक बड़ी खबर है।लोकसभा चुनाव से पहले बाहुबली नेता मुख्तार अंसारी का रिहा होना मायावती के लिए खुशखबरी से कम नहीं है।उनकी जमानत की खबरों के बाद ये चर्चा शुरू हो गई कि बसपा मुख़्तार अंसारी को लोकसभा टिकट दे सकती है।मुख्तार अंसारी ने 2007, 2009, 2012, 2014, और 2017 का विधानसभा चुनाव जेल में बंद रहते हुए ही लड़ा था।

जिसमें वह 2009 व 2014 का लोकसभा चुनाव हारे जबकि विधानसभा चुनाव मऊ की सदर सीट से लगातार जीतते चले आ रहे हैं।मायावती ने उन्हें एक बार फिर बसपा में वापस लिया है और अंसारी परिवार की स्थिति फिलहाल बसपा में मजबूत है।इस वक़्त मुख्तार अंसारी मऊ सदर से विधायक है। उनकी जमानत की खबर पूरे इलाके में आग की तरह फ़ैल गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here