मोदी सरकार का फिल्मस्टार शाहरुख़ खान को बड़ा झटका,केंद्र ने…

0
2059
शाहरुख खान-नरेंद्र मोदी

एक आरटीआई से खुलासा हुआ है कि मानव संसाधन मंत्रालय ने बॉलीवूड अदाकार शाहरुख खान को जामिया मील्लिया इसलामिया की तरफ़ से दिये जाने वाले डॉक्टरेट की उपाधि को मंजूरी देने से मना कर दिया है,इस खबर के सामने आने के बाद अब इस पर विवाद खड़ा हो गया है,और मानव संसाधन मंत्रालय से लोग सवाल कर रहे हैं कि आखिर ऐसा क्यों किया गया है।

आप को बता दें कि शाहरुख खान को इस तरह की डिग्री मौलाना आज़ाद उर्दू यूनिवर्सिटी की तरफ से मिल चुकी है,यूनिवर्सिटी अलग अलग छेत्रों में काम करने वालों को इस तरह की डिग्री देती रहती है लेकिन शाहरुख खान को दिये जाने वाले डिग्री को मंत्रालय ने मंजूरी नहीं दी है।

शाहरुख़ खान

मिली जानकारी के अनुसार जामिया प्रशासन ने मानव संसाधन मंत्रालय से बीते साल फरवरी के महीने में इजाजत मांगी कि शाहरुख खान को डॉक्टरेट की डिग्री दी जा रही है,इस पर तीन महीने तक मंत्रालय की तरफ से कोई जवाब नहीं मिला।तीन महीने के बाद जब जामिया को जवाब मिला तो मंत्रालय ने इसे खारिज कर दिया था।

जामिया मिलिया इस्लामिया ने शाहरुख खान को उपाधि देने के लिए मानव संसाधन मंत्रालय को लिखा था।जिसका जवाब मंत्रालय की जानिब से अंडर सेक्रेटरी पीके सिंह ने 26 फरवरी को दिया।इसमें यूनिवर्सिटी प्रबंधन से ये सवाल पूछा कि क्या इस मामले में यूनिवर्सिटी के सक्षम अधिकारियों से इजाजत ली गई गई है।

वहीं 14 मार्च 2018 को जामिया की एग्जीक्यूटिव काउंसिल की मीटिंग के मिनट्स के मुताबिक,शाहरुख को मानद डिग्री देने की रजामंदी दी गई।यह बात मंत्रालय को बता दी गई।इसके बाद भी मंत्रालय ने इस दरख्वास्त को ठुकरा दिया,उपाधि देने की मंजूरी नहीं दी।

शाहरुख खान

आपको बता दें कि शाहरुख खान जामिया छात्र भी रह चुके हैं, और वह जामिया में 1988-90 में मास्टर्स के छात्र थे,वह दिल्ली के ही रहने वाले हैं, शाहरुख खान ने बॉलीवूड के जरिये भारत का दुनिया भर में नाम किया है,इसी वजह से जामिया प्रशासन ने इन्हें डॉक्टरेट की उपाधि देने का फैसला किया था। लेकिन अब मंत्रालय ने इसे मंजूरी नहीं दी है जिसकी वजह से जामिया की तरफ से शाहरुख खान को यह उपाधि नहीं दी जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here