भूलकर भी न करें मोबाइल की इस सेटिंग से छेड़खानी,घर से उठाकर ले जाएगी पुलिस

0
608
source-google

मित्रो आजके समय में मोबाइल का इस्तेमाल सभी कर रहे है.आपने देखा होगा आजकल तो बच्चे ही फोन के बहुत से टूल के बारे में जानते है.मोबाइल कंपनी जब भी कोई फोन मार्केट में लाती है तो उसमें अनेक सेटिंग्स आती हैं.अगर हम आपसे कहें कि फोन में मौजूद कुछ सेटिंग में बदलवा करने से आप पर पुलिस केस भी लग सकता है तो आपको यकीन नहीं होगा.

दोस्तों हर मोबाइल में एक यूनिक आइडेंटिटी नंबर के साथ आता है यूनिक आइडेंटिटी नंबर की मदद से हैंडसेट खो जाने या किसी आपराधिक केस में पुलिस उसे ट्रैक करती है.इस नम्बर को इंटरनेशनल मोबाइल इक्विपमेंट आइडेंटिटी नंबर (IMEI) कहा जाता है.लेकिन टेक्नोलॉजी में विस्तार के साथ ये अब ये यूनिक नंबर नहीं रह गया है.इस नम्बर को बदलने में कई लोग एक्सपर्ट हो गये है इससे सरकार और सिक्योरिटी एजेंसी चिंतित है.

Photo Source-Deccan Chronicle

सरकार मोबाइल की इस छेड़खानी को दंडनीय अपराध बनाने जा रही है.मीडिया रिपोर्ट की मानें तो इंडियन टेलिग्राफ एक्‍ट के तहत IMEI से छेड़छाड़ को क्राइम में लाने की तैयारी हो रही है.अगर कोई ऐसा करता हैं तो 3 साल तक की सजा हो सकती है.अब सरकार एक ऐसा सिस्टम तैयार कर रही है जिससे फोन चोरी होने पर उसकी सभी सर्विसेज को ब्लॉक किया जा सकेगा.इसे CEIR सिस्टम नाम दिया गया है.

टीईआरएम के अनुसार,देश में 18 हजार से भी ज्यादा ऐसे हैंडसेट हैं,जिनका एक ही IMEI नंबर है.ऐसा अधिकतर चायना के सेट में अधिक है.लेकिन कड़ा नियम बन जाने के बाद चोर फोन का IMEI बदलने से पहले सोचेगा जिससे क्राइम में कमी आएगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here