मैनपूरी से मुलायम को टिकट के बाद तेज प्रताप का एलान-इस बार भी लडूंगा लोकसभा चुनाव लेकिन

0
341

सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव को मैनपुरी से लोकसभा चुनाव का टि’कट दिये जाने के बाद मैनपुरी के निवर्तमान सांसद एवं राजद मुखिया लालू प्रसाद यादव के दामाद तेजप्रताप सिंह यादव के लिए नई राजनीतिक जमीन तलाशने का काम शुरू कर दिया गया है.खुद तेजप्रताप का कहना है कि वह चुनाव लड़ेंगे,लेकिन कौन सी सीट से चुनाव लड़ेंगे ये अभी तय नही हो पाया है इसका फैसला एक दो दिन में हो जायेगा.

हाईकमान को एहसास कराया गया
समाजवादी पार्टी से जुड़े हुए प्रभावी सूत्रों की मानें,तो मुलायम को मैनपुरी से टिकट दिये जाने के बाद विरोध स्वरूप पार्टी के राष्टीय महासचिव प्रो.रामगोपाल यादव का सपाईयों ने पुतला फूंक कर हाईकमान को इस बात का एहसास करा दिया था कि सांसद तेजप्रताप का टिकट काटने के बाद उनको भी कहीं ना कहीं से उम्मीदवार बनाया जाये.

लेकिन पुतला फूंकने के मामले को सपा हाईकमान ने बेहद गंभीरता से लिया जिसके नतीजे में पार्टी की जिला ईकाई के अध्यक्ष खुमान सिंह वर्मा समेत पूरी पार्टी को तत्काल प्रभाव से भंग कर दिया गया है लेकिन चाचा शिवपाल से मोर्चा ले रहे अखिलेश नही चाहते है परिवार का दूसरा व्यक्ति उनके निर्णयों के खिलाफ जाये इसलिए उन्होंने तेज प्रताप को भी एडजस्ट करने का विचार बना लिया है.

तेज प्रताप ने कहा-लड़ेंगे चुनाव
मुलायम सिंह यादव के भाई के पोते और मैनपुरी सांसद तेज प्रताप को चुनावी विरासत की नई जमीन खोजने के लिए सपा ने मंथन शुरू कर दिया है, चर्चा जोरों पर है कि उन्हें आजमगढ़,कन्नौज और एटा में से किसी सीट से चुनाव लड़ाया जा सकता है लेकिन आजमगढ़ से सपा मुखिया अखिलेश यादव चुनाव लड़ सकते है.वही कन्नौज से अखिलेश यादव की पत्नी डिम्पल का चुनाव लड़ना करीब करीब तय माना जा रहा है.

सपा में मंथन चल रहा है कि यादव वोटों को सहेजने के लिए क्या तेजप्रताप एटा संसदीय सीट से लड़ेंगे.इस मामले में खुद तेज प्रताप का कहना है कि वह चुनाव लड़ेंगे,लेकिन कहां से,यह अभी तय नहीं है.इसका फैसला एक दो दिन में हो जाएगा.

मिल सकती है आजमगढ़/एटा सीट-

माना जा रहा है कि अखिलेश यादव आजमगढ़ जाएंगे और तेज प्रताप के लिए नई जमीन तैयार की जाएगी,हालांकि सैफई में इस बात की भी चर्चा जोरों पर है कि अखिलेश लोकसभा के चुनाव में केवल प्रचार करेंगे.ऐसी स्थिति में तेज प्रताप आजमगढ़ की सीट सहेजने के लिए उतर सकते हैं.अगर अखिलेश आजमगढ़ से चुनावी समर में उतरे तो तेज प्रताप के लिए एटा की जमीन मुफीद मानी जा रही है.यादव परिवार का दखल भी वहां अच्छा माना जाता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here