महागठबंधन और ओवैसी में दोस्ती?…..AIMIM के इस एलान से खुश हुई सपा और बसपा

0
812

आल इंडिया इत्तेहादुल मुस्लीमीन ने तेलंगाना के अलावा अन्य राज्यों में होने वाले चुनावों के सम्बन्ध में एक बड़ा एलान हुआ है.पार्टी मुखिया ओवैसी ने महागठबंधन को बड़ी राहत देते हुए यूपी में किसी भी भी सीट से चुनाव ना ल’ड़’ने का फैसला किया है.इस फैसले के पीछे ओवैसी और महागठबन्धन के बीच किसी तरह की पीछे से तालमेल का भी दावा किया जा रहां है.

हैदराबाद से सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने कहा है कि उनकी पार्टी लोकसभा चुनाव में बिहार के किशनगंज से चुनाव लड़ रही है.इसके साथ ही उन्होंने महाराष्ट्र और उत्तर प्रदेश में भी चुनाव लड़ने के संकेत दिए लेकिन जो खबर आ रही है,उसके मुताबिक यूपी में ओवैसी की पार्टी AIMIM नहीं ल’ड़ेंगी चुनाव.

ओवैसी

इसके साथ ही उन्होंने किशनगंज से बिहार इकाई के अध्यक्ष अख्तरुल इमान को पार्टी की तरफ से प्रत्याशी भी घोषित कर दिया.उन्होंने अपना नामांकन भी दाखिल कर दिया है,बता दें कि ओवैसी अपने पार्टी के एकलौते सासंद हैं.टाइम्स नाऊ हिन्दी पर छपी खबर के अनुसार,एआईएमआईएम के पुनरूद्धन के 61वीं वर्षगांठ के अवसर पर ओवैसी यह घोषणा की.

उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी का महाराष्ट्र में प्रकाश अंबेडकर की वंचित बहुजन अगाडी पार्टी के साथ गठबंधन है.इसके साथ ही उन्होंने मोहम्मद जलील को उम्मीदवार बनाया है.पार्टी महाराष्ट्र की औरंगाबाद सीट पर भी चुनाव लड़ रही हैं.उत्तर प्रदेश में चुनाव को लेकर ओवैसी ने कहा कि प्रदेश इकाई सिर्फ एक सीट पर चुनाव लड़ना चाहती हैं जबकि कर्नाटक और तमिलनाडु में चुनाव लड़ने पर हम चर्चा करेंगे और फिर निर्णय लेंगे.

ओवैसी ने कहा कि उनकी पार्टी का बिहार में कोई गठबंधन नहीं है और पार्टी बिना किसी गठबंधन के चुनाव मैदान में उतरेगी.इसके साथ ही उन्होंने इस बात के भी संकेत दिए कि लोकसभा चुनाव में पार्टी तेलगांना में तेलंगाना राष्ट्र समिति को समर्थन करेगी जबकि आंध्र प्रदेश में वाईएसआर कांग्रेस पार्टी को समर्थन देगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here