लोकसभा चुनाव से पहले गठबंधन को बड़ा झटका,बसपा का प्रत्याशी हारा

0
748
FI-MAYAWATI AKHILESH AND YOGI

उत्तर प्रदेश में लोकसभा चुनाव हुआ सपा बसपा गठबंधन हो तो राज्य का सबसे मजबूत गठबंधन माना जा रहा है।लेकिन लोकसभा चुनाव से पहले ही महागठबंधन को एक तगड़ा झटका मिल गया है।खबर के मुताबिक पश्चिमी यूपी की सीट गाजियाबाद में हुए चुनाव में पर्याप्त वोट होने के बावजूद भी बसपा प्रत्याशी को हार का सामना करना पड़ा है।

बसपा प्रत्याशी के पास अपनी पार्टी के 15 और सपा के 6 वोट थे।इसके बावजूद भी बसपा को हार का सामना करना पड़ा है।इस हार के बाद में नेताओं में सपा बसपा गठबंधन को लेकर राजनीतिक चर्चाएं जोर पकड़ रही हैं।बता दें कि हाल ही में सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव और बसपा सुप्रीमो मायावती ने संयुक्त तौर पर सीटों का बंटवारा किया है और इस बंटवारे के तहत गाजियाबाद लोकसभा सीट समाजवादी पार्टी के खाते में आई है।

बताया जा रहा है कि गाजियाबाद नगर निगम कार्य करनी है के 6 पदों पर हुए चुनाव के लिए मेरा आशा वर्मा ने नगर निगम के सदस्यों की बैठक बुलाई थी।जहां बीजेपी ने चार कांग्रेस नेता और बसपा ने एक प्रत्याशी को चुनाव मैदान में उतारा।बता दें कि कांग्रेस के पास केवल एक पार्षद को कार्य करने में पहुंचाने के लिए कहा गया था लेकिन पार्टी ने अपने दो उम्मीदवार उतारे।

इस दौरान सात प्रत्याशी होने के कारण क्रॉस वोटिंग को लेकर पार्टियों में हड़कंप मच गया।जब सर्वसम्मति से चुनाव नहीं हो पाया तो वोटिंग कराने का फैसला लिया गया।वोटिंग के दौरान समाजवादी पार्टी के एमएलसी समेत 6 सदस्य वोट डालने नहीं आए।जिसके कारण बसपा प्रत्याशी को 15 के स्थान पर केवल 9 ही वोट मिल पाए।

AKHILESH

नतीजा ये निकला कि मेयर चुनाव अधिकारियों ने कांग्रेस के दो और भाजपा के चार प्रत्याशियों को विजेता घोषित कर दिया गया।मतगणना के बाद सामने आए आंकड़ों के मुताबिक,भाजपा प्रत्याशी अनिल स्वामी को 19,राजीव शर्मा को 18,मनोज गोयल को 17 और विनोद शर्मा को 16 वोट मिले।

कांग्रेस के उम्मीदवार मनोज चौधरी और विनोद कुमार को 10-10 वोट मिले हैं।इस मामले में बसपा प्रत्याशी संघदीप तोमर का कहना है कि सदन में उनके पार्षदों की संख्या 13 है और दो एमएलसी भी हैं।लेकिन फिर भी उन्हें सिर्फ 9 वोट ही मिल पाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here