कन्नौज और आजमगढ़ से नही अखिलेश यहाँ से लड़ेंगे चुनाव

0
403
FI-AKHILESH

उत्तर प्रदेश में सपा-बसपा गठबंधन के सीटों के बंटवारे के बाद बहुजन समाज पार्टी मायावती और समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव किस सीट से चुनावी दंगल में उतरेंगे।इस मामले में राजनीतिक चर्चा जोरों-शोरों पर है।केंद्र में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी को करारी शिकस्त देने के चलते सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव और बसपा सुप्रीमों हर कदम फूंक-फूंक कर रख रहे हैं।

अब खबर सामने आ रही है कि अखिलेश यादव और चाचा शिवपाल यादव के बीच सीढ़ी टक्कर हो सकती है।राजनीतिक सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक,अखिलेश यादव इस वक़्त प्रसपा अध्यक्ष शिवपाल यादव को सीधी टक्कर देने के मूड में हैं।बताया जा रहा है कि हाल ही में नई पार्टी बना चुके शिवपाल यादव समाजवादी पार्टी के वोटरों को नुक्सान पहुंचा रहे हैं।

Photo Credit-dainikaaj

सपा के करीबी सूत्रों का कहना है कि चाचा शिवपाल यादव की इस हरकत के लिए सपा अध्यक्ष उन्हें बक्शने के मूड में नजर नहीं आ रहे हैं।जिसके चलते उन्होंने अपनी पत्नी और सांसद डिंपल यादव के कन्नौज लोकसभा सीट से चुनाव लड़ने के बाद यह फैसला लिया है।सपा से जुड़े पत्रकार प्रोफ़ेसर योगेन्द्र यादव ने दावा किया है कि अखिलेश खुद वह फिरोजाबाद से चुनावी दंगल में उतरेंगे।

बताया जा रहा है कि पार्टी के करीबी अखिलेश यादव को यह कदम ना उठाने की सलाह दे रहे हैं।लेकिन अखिलेश यादव ने इस सीट से ही चुनाव लड़ने का पूरा मन बना लिया है।वहीँ राजनीतिक विशेषज्ञों का मानना है कि अगर अखिलेश यादव इस परंपरागत सीट से लोकसभा चुनाव लड़ेंगे तो शिवपाल यादव को करारी शिकस्त दे सकते हैं।

आपको बता दें कि साल 2009 में भी अखिलेश यादव इसी सीट से अपनी जीत दर्ज करवा चुके हैं।बता दें कि इस लोकसभा सीट से चुनाव लड़ने की घोषणा अखिलेश यादव द्वारा जल्द ही की जा सकती है।बताया जा रहा है कि भले ही अभी तक फिरोजाबाद लोकसभा सीट से चुनाव लड़ने की घोषणा की गई हो।

शिवपाल यादव

लेकिन चुपके चुपके अखिलेश यादव फिरोजाबाद का दौरा भी कर आएं हैं।बता दें कि हाल ही में सपा बसपा के बीच हुए सीटों के बंटवारे के चलते सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने मायावती के हिस्से में कई ऐसी सीटें खाली हैं जिन पर सपा बहुत ही आराम से चुनाव जीत सकती थी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here