एक शख्स ने कहा-उनकी बीबी ने जि’ना कर लिया,पैगम्बर मुहम्मद (स.अ.व.) ने इस पर कहा..

0
539

इस्लाम में मियां बीवी के पोशीदा आमाल को राज़ में रखने की सख़्ती से तलक़ीन है,उसे ज़ाहिर करने और फैलाने की बड़ी मुज़म्मत वारिद हुई है,इस राज़ की हिफ़ाज़त करने वाले बड़ी फ़ज़ीलत के मुस्तहिक़ हैं,अल्लाह के नबी सललल्लाहु अलैहि वसल्लम ने फ़रमाया जो शख़्स किसी मुस्लमान के ऐब को छुपाए अल्लाह ताला कयामत के रोज़ उस के ऐब को छुपा देगा। सही मुस्लिम:2699

मियां बीवी एक दूसरे के लिए बेहतरीन राज़दाँ होने चाहीए,राज़ की बात कही जाये तो उसे किसी सूरत ज़ाहिर ना करे,आपस के घरेलू मुआमलात को भी दोस्तों में शेयर ना करे,राज़दारी के ताल्लुक़ात हमबिसतरी वग़ैरा का राज़ सिर्फ अपने सीने में महफ़ूज़ रखे।क्योंकि ऐसे राज़ का इफ़शा-ए-करना गुनाह कबीरा में से है।वहीं अगर बीवी से कोई गलती हो जाये तो उसे भी किसी से न बताएं,बल्कि आपस में उस मामले को हल कर लें।

MUSLIM WOMEN

अल्लामा इबन असीमीन रहिमा अल्लाह से सवाल किया गया कि औरतों में ये आम रिवाज है कि वो अपने घरेलू मामूलात और अज़दवाजी ज़िंदगी के इसरार और राज़ की बातें अपने क़रीबी रिश्तेदारों और सहेलीयों को बताती हैं।जबकि शौहर उस चीज़ को ना पसंद करते हैं।सो उन औरतों के बारे में क्या हुक्म है?

आप ने इसके जवाब में फरमाया औरतों का घरेलू मामूलात के राज़ या अज़दवाजी ताल्लुक़ात के इसरार को क़रीबी रिश्तेदारों और सहेलीयों को बताना हराम है।किसी औरत के लिए घर की बातें दूसरों में बयान करना जायज़ नहीं यए,और ना शौहर के साथ बताए गए लमहात को बयान करना किसी से जायज़ है।

बीबी ने जिना कर लिया है
एंक मर्तबा अल्लाह के नबी सललल्लाहु अलैहि वसल्लम के पास एक सहाबी आए और अर्ज़ किया कि मेरी बीवी ने ज़िना कर लिया है,अल्लाह के नबी सललल्लाहु अलैहि वसल्लम ने जब यह बात सुनी तो आप ने मुंह फेर लिया और नाराजगी का इज़हार फरमाया।सिर्फ इस वजह से कि वह अपनी बीवी के एक ऐसे एब को सबके सामने बता रहा है,जिस की वजह से उसकी रुसवाई हो सकती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here