लोकसभा चुनाव से पहले भाजपा की हुई करारी हार,ममता की पार्टी की ज़ोरदार जीत

0
391

पश्चिम बंगाल में भाजपा अपनी जड़े जमाने के लिए एड़ी छोटी का जोर लगा रही है.पश्चिम बंगाल में वाम दलों का वर्चस्व तोड़कर सत्ता पाने वाली टीएमसी को रोकना भाजपा के लिए इतना आसान नही दिख रहा है लोकसभा चुनाव से पहले भाजपा ने कई टीएमसी के नेताओ को तोड़ कर अपनी पार्टी में शामिल कराया है

लेकिन इन सब के बाद भी भाजपा की पकड़ राज्य में कितनी मजबूत हुई है इसका पता तो चुनाव परिणाम के बाद भी मालूम पड़ेगा.लेकिन चुनाव से पहले भाजपा को बंगाल में करारी हार का सामना करना पड़ा है.इस जीत से तृणमूल कांग्रेस के खेमे में जश्न का माहौल है.

भाजपा नेता को मिली करारी हार…

अभी हाल ही में कई टीएमसी नेताओ ने भाजपा का दामन थामा था लेकिन इन्ही में से एक विधायक अर्जुन सिंह अपने गढ़ में ही चुनाव हार गये है.लोक सभा चुनाव में बीजेपी की ओर से बैरकपुर के उम्मीदवार अर्जुन सिंह को सोमवार को करारी हार का सामना करना पड़ा.

गौरतलब है कि अर्जुन सिंह हाल ही में टीएमसी छोड़कर बीजेपी में शामिल हुए हैं,वह भाटपाड़ा नगरपालिका के चेयरमैन भी थे.टीएमसी की ओर से उनके खिलाफ नो कॉन्फिडेंस मोशन (अविश्वास प्रस्ताव) लाया गया था.भाटपाड़ा नगरपालिका में सोमवार को हुए अविश्वास प्रस्ताव में विधायक व चेयरमैन अर्जुन सिंह को हार का सामना करना पड़ा.

अर्जुन सिंह की हार के बाद अब नगरपालिका बोर्ड पर तृणमूल कांग्रेस का ही कब्जा रहेगा.अविश्वास प्रस्ताव में अर्जुन सिंह को कुल 11 वोट मिले.वहीं विपक्षी पार्टी के उम्मीदवार व नगरपालिका के उप चेयरमैन सोमनाथ तालुकदार को 22 वोट मिले.इस तरह अर्जुन को करारी हार का सामना करना पड़ा.

नतीजों के बाद झड़प


चुनाव के बाद नगरपालिका के बाहर बीजेपी और तृणमूल कांग्रेस के समर्थकों के बीच संघर्ष भी हुआ.परिस्थिति को नियंत्रित करने के लिए पुलिस को लाठी चार्ज करना पड़ा.मिली जानकारी के अनुसार सोमवार सुबह 11 बजे वोट की प्रक्रिया शुरु हुई.कुल 35 पार्षदों में से 33 पार्षद नगरपालिका में उपस्थित थे.चुनाव के दौरान तृणमूल कांग्रेस की ओर से मनोज गुहा और बीजेपी की ओर से प्रमोद सिंह अर्जुन सिंह का नेतृत्व कर रहे थे.

अर्जुन सिंह का सियासी रसूख हुआ खत्म


वोटों की गिनती के बाद जैसे ही पता चला कि अर्जुन सिंह को 11 और सोमनाथ तालुकदार को 22 वोट मिले हैं.दोनों के समर्थक आपस में उलझ गये.स्थिति को देखते हुए भारी संख्या में पुलिस बल तैनात करना पड़ा.लोकसभा चुनाव के पहले अर्जुन सिंह के लिए यह हार बड़ा धक्का माना जा रहा है.इतना ही नहीं बीजेपी में शामिल होने से पहले वे कई कोऑपरेटिव बैंक के सभापति और विभिन्न ट्रेड यूनियों के अध्यक्ष थे.आज उन्हें चेयरमैन के साथ ही इन सभी पदों से भी हाथ धोना पड़ा.
ये भी पढ़िए-मलाइका ने पहली बार खोला राज़,बोली-अरबाज़ से तलाक के एक दिन पहले रात में हुआ…
महागठबंधन ने इस मुस्लिम नेता के बिगाड़ दिए समीकरण,भाजपा को भी लग रहा है डर
सपा के लिए बड़ी खबर,इस सीट पर विपक्षी दल ने दिया समर्थन,भाजपा में मची खलबली
दिग्गज मुस्लिम नेता कांग्रेस छोड़कर भाजपा में होगा शामिल,कांग्रेस मनाने के लिए कर रही जतन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here