लोकसभा चुनाव से पहले BJP को बड़ा झटका,उपचुनाव में मिली यहाँ मिली हार

0
712
FI

आने वाले लोकसभा चुनाव के लिए बीजेपी उत्तर प्रदेश में अपनी पैठ मजबूत करने के लाखों यतन कर रही है लेकिन सपा-बसपा गठबंधन और कांग्रेस के आगे भाजपा की कोई भी रणनीति काम नहीं कर रही है.इस वक्त यूपी में सबसे कमजोर राजनीतिक पार्टी बीजेपी को ही माना जा रहा है.अब बीजेपी के लिए लोकसभा चुनाव से पहले एक और बुरी खबर सामने आ रही है.

बता दें कि बुलंदशहर जिला पंचायत अध्यक्ष प्रदीप चौधरी के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पास किया जा चुका है।जिसके चलते प्रदीप चौधरी को अध्यक्ष की कुर्सी से हाथ धोना पड़ा है.खबर के मुताबिक 54 सदस्यों में से 44 सदस्यों ने अविश्वास प्रस्ताव के पक्ष में मतदान किया है.जबकि इसके विरोध में एक भी मत नहीं डाला गया.

भाजपा नेता

आपको बता दें कि जिला पंचायत अध्यक्ष प्रदीप चौधरी के साथ 8 सदस्यों ने इस अविश्वास प्रस्ताव की बैठक में भाग नहीं लिया है.हाई कोर्ट के आदेश के मुताबिक जिला पंचायत अध्यक्ष और बीजेपी नेता प्रदीप चौधरी के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव की बैठक सिविल जज सीनियर डिविजन ऋषि कुमार की अध्यक्षता में शुरू की गई.

बैठक में अविश्वास प्रस्ताव के मामले पर नेताओं ने खुलकर चर्चा की है जिसमें जिला पंचायत सदस्य ने अध्यक्ष प्रदीप चौधरी पर लगे गए सभी आरोपों को सही करार दिया है.इस बैठक के दौरान अविश्वास प्रस्ताव पर गुप्त मतदान करवाया गया और इसमें 44 सदस्यों ने अविश्वास प्रस्ताव के पक्ष में मतदान किया है.

इसके बाद जिला पंचायत अध्यक्ष प्रदीप चौधरी के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पारित कर दिया गया है.इस मामले में जिला पंचायत के सदस्य महेंद्र भैया ने कहा है कि जिला पंचायत अध्यक्ष प्रदीप चौधरी के खिलाफ पारित हुए अविश्वास प्रस्ताव की सूचना शासन को भेज दी गई है.

अब शासन स्तर से अगली व्यवस्था की जाएगी भ्रष्टाचार के खिलाफ मेरी लड़ाई हमेशा जारी रहेगी जिला पंचायत अध्यक्ष की तानाशाही के खिलाफ सदस्यों में काफी आक्रोश था मैं भाजपा का सिपाही हूं।मैं हमेशा जनता की सेवा करता रहूंगा.आपको बता दें कि साल 2017 के उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी ने बहुमत से जीत हासिल की थीलेकिन इस बार के लोकसभा चुनाव में संगीत उसके बिल्कुल विपरीत मिल रहे हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here