भारत पाक के बीच ज़बरदस्त त’नाव,LOC में पाक एयर फ़ोर्स के दुस्साहस के बाद भारत ने…

0
397
JET

जम्मू-कश्मीर सेक्टर में पाकिस्तानी एयरफोर्स के विमान के घुसने के बाद दोनों देशो के बीच ज़बरदस्त तनाह है,दोनों देश की सेनाओ का आमना सामना आज एक बार फिर हुआ.भारतीय सेना ने पाक का मुहं तोड़ जवाब देते हुए पाक वायुसेना का F16 विमान मा’र गि’राया है.भारतीय वायुसेना ने भी पाकिस्तान के इस हरकत का ज़ोरदार जवाब दिया है.

ताज़ा घटनाक्रम के बाद (बुधवार) को पूरे देश में अलर्ट जारी कर दिया गया है.वहीं जम्मू-कश्मीर के तीनों एयरपोर्ट सहित पठानकोट और अमृतसर एयरपोर्ट भी सिविलियन्स की आवाजाही के लिए बंद कर दिया गया है.वहीं पाकिस्तान ने भी अपने पांच हवाई अड्डों को आम जनता की आवाजाही के लिए रोक दिया है.

बता दें कि मंगलवार को भारतीय वायु सेना की ओर से बालाकोट में जैश के आतंकी अड्डे पर एयर स्ट्राइक की गई थी जिसमें करीब 325 आतंकियों को ढेर कर दिया गया था.कौन कौन से एयरपोर्ट हुए बंद- बता दें कि जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर,जम्मू,लेह एयरपोर्ट के साथ ही पठानकोट और अमृतसर एयरपोर्ट सिविलियन्स की आवाजाही के लिए बंद दिए गए हैं.

इसके साथ ही पूरे देश को हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है.श्रीनगर में भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण (एएआई) के एक अधिकारी ने पीटीआई-भाषा से कहा,आपात स्थिति को ध्यान में रखते हुए व्यावसायिक विमानों की आवाजाही को अस्थायी रूप से निलंबित कर दिया गया है.

हालांकि अधिकारी ने आपात स्थिति की प्रकृति के बारे में नहीं बताया लेकिन माना जा रहा है कि बुधवार सुबह बडगाम जिले में भारतीय वायुसेना के विमान के दुर्घटनाग्रस्त हो जाने के मद्देनजर यह कदम उठाया गया है.अधिकारियों ने बताया कि उन्हें हवाई यातायात नियंत्रकों से निर्देश प्राप्त हुए हैं कि हवाईअड्डों को व्यावसायिक उड़ानों के लिए बंद कर दिया गया है.

अमृतसर एयरपोर्ट अथॉरिटी का क्या है कहना-
अमृतसर एयरपोर्ट डायरेक्टर एपी आचार्य ने बताया कि ऑपरेशनल रीजन्स की वजह से फ्लाइट्स को बंद किया गया है.इसके साथ ही यहां से कोई फ्लाइड उड़ान नहीं भरेगी.वही पाकिस्तान ने भी अपने एअरपोर्ट बन कर दिए है.बता दें कि जहां भारत ने 5 एयरपोर्ट आम जनता के लिए बंद किए हैं तो वहीं पाकिस्तान ने भी फैसलाबाद,इस्लामाबाद,लाहौर,सियालकोट और मुल्तान एयरपोर्ट आम जनता की आवाजाही के लिए बंद कर दिए हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here