आज़म पर कसा शिकंजा,मुस्लिम धर्मगुरु के करीबी की शिकायत पर एक्शन मोड में पुलिस

0
456

समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता आजम खान इस समय मुश्किल में है.जब से प्रदेश में सत्ता परिवर्तन हुआ है तबसे सपा के कद्दावर नेता के खिलाफ कोई ना कोई मामला दर्ज हो रहा है.अब उनके खिलाफ एक और मामले में FIR दर्ज की गयी है.सपा नेता आजम खां पर आरएसएस को बदनाम करने का आरोप लगाते हुए हजरतगंज कोतवाली में एफआईआर दर्ज कराई गई है.

यह रिपोर्ट लेखक व आलोचक अल्लामा जमीर नकवी की तहरीर पर दर्ज की गई है,नकवी को शियाधर्म गुरु कल्बे जव्वाद का करीबी भी माना जाता है वही उनकी नजदीकियां आरएसएस नेताओ से भी है.उनका आरोप है कि पूर्व मंत्री ने मौलाना सैय्यद कल्बे जव्वाद नकवी और आरएसएस के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी की थी और आजम खां की अभद्र टिप्पणी से उनकी और समाज की भावनाएं आहत हुई हैं.

प्रभारी निरीक्षक राधा रमण सिंह ने बताया कि मामला चार साल पहले सपा सरकार के कार्यकाल का है.उन्होंने बताया कि शिकायतकर्ता सामाजिक कार्यकर्ता अल्लामा जमीर नकवी ने प्रार्थनापत्र में वर्ष 2014 में आजम खां के लेटरपैड पर जारी छह पत्र का हवाला देते हुए उन पर सामाजिक और धार्मिक विद्वेष फैलाने का आरोप लगाया है.

जमीर नकवी के अनुसार 2014 में सरकारी लेटर पैड व मुहर का दुरुपयोग करके शिया धर्मगुरु मौलाना कल्बे जव्वाद तथा आरएसएस का अपमान किया गया था.आजम के साथ आरएसएस को बदनाम करने के षड़यंत्र में शिया वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष वसीम रिजवी भी शामिल थे.उन्होंने बताया कि सपा नेता ने पत्र जारी कर अभद्र भाषाओं का इस्तेमाल किया था.

इससे मौलाना कल्बे जव्वाद की छवि को ठेस पहुंची.आरोप यह भी है कि पूर्व मंत्री के इस कृत्य ने दो समुदाय के बीच नफरत फैलाने का भी काम किया था.इंस्पेक्टर हजरतगंज राधा रमण सिंह ने बताया कि तहरीर के आधार पर रिपोर्ट दर्ज करके छानबीन की जा रही है.गौरतलब है कि आजम खान और शिया धर्म गुरु कल्बे जव्वाद के बीच छत्तीस का आकड़ा किसी से छुपा नही है.वही इस मसले पर अभी सपा नेता ने कोई प्रतिक्रिया नही दी है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here