अमेरिका ने तालिबान से सुलह के प्रयास तेज़ किये,ट्रम्प ने पाक पर दवाब डालकर तालिबान नेता की…

0
236

पाकिस्तान ने अमेरिका के अनुरोध पर अफगानिस्तान शांति वार्ता में तेजी लाने में मदद के लिए तालिबान के सह-संस्थापक मुल्ला अब्दुल गनी बरादर को रिहा कर दिया.अफगानिस्तान में अमेरिका के विशेष दूत जल्माय खलीलजाद ने यह जानकारी दी.’डॉन न्यूज’ के मुताबिक,दक्षिण एशिया और मध्य पूर्व के लगभग एक महीने के शांति मिशन से अमेरिका लौटे खलीलजाद ने शुक्रवार को कहा कि उन्होंने तालिबान के साथ अफगानिस्तान से अमेरिकी सेना की वापसी के लिए शर्तो पर चर्चा की,लेकिन इस मुद्दे पर अभी तक कोई समझौता नहीं हुआ है.

वार्ता की आवश्यकता

PHOTO SOURCE-KHAMA-PASS

यहां ‘युनाइटेड स्टेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ पीस’ (यूएसआईपी) में खलीलजाद ने स्वीकार किया कि अमेरिका और तालिबान पिछले महीने दोहा में एक फ्रेमवर्क समझौते पर पहुंच गए,लेकिन एक निष्कर्ष पर पहुंचने के लिए और अधिक वार्ता की आवश्यकता है.

अमेरिका-तालिबान वार्ता को सहज बनाने में पाकिस्तान की भूमिका के बारे में एक सवाल का जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि इस्लामाबाद ने एक रचनात्मक भूमिका निभाई है और ‘मेरे अनुरोध पर’ मुल्ला बरादर को रिहा कर दिया.

खलीलजाद ने कहा कि उन्होंने बरादार की रिहाई का अनुरोध किया क्योंकि उनका मानना था कि वरिष्ठ तालिबान नेता भी अफगान शांति पहल में एक रचनात्मक भूमिका निभा सकता है.शांति वार्ता को बढ़ावा देने में पाकिस्तान की भूमिका की सराहना करते हुए खलीलजाद ने कहा,’पाकिस्तान एक महत्वपूर्ण देश है और हम पाकिस्तान के साथ बेहतर संबंध चाहते हैं.’

KHAMA PRESS

पाकिस्तान ने यह भी कहा है कि पिछले महीने अमेरिका और तालिबान के बीच हुई बातचीत सभी पक्षों के लिए ‘बड़ी कूटनीतिक जीत’ थी.मुल्ला बरादर को पाकिस्तान में गत अक्टूबर माह में रिहा किया गया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here