Headline24

Follow

हिंदुत्व के एजेंडे पर चल रही मोदी सरकार जिसके चलते अल्पसंख्यकों में है तनाव-​अमेरिकी रिपोर्ट

by News Editor

Share

अमेरिका की एक रिपोर्ट में बताया गया है कि अगले पांच साल में भारत की इकॉनमी तेजी से बढ़ेगी, लेकिन इसके साथ ही कहा गया है कि विश्व यह भी देख रहा है कि नरेंद्र मोदी सरकार हिंदुत्व राष्ट्रवादियों से कैसे निपटेगी, जिसकी वजह से अल्पसंख्यकों के साथ तनाव बढ़ रहा है। यब बात यूएस नेशनल इंटेलिजेंस काउंसिल द्वारा तैयार की गई द ग्लोबल रिपोर्ट में कही गई है। यह रिपोर्ट नए शासन के लिए हर चार साल में तैयार की जाती है।
रिपोर्ट में कहा गया है जब चीन की इकॉनोमी की गति धीमी रहेगी, तभी भारत की इकॉनमी बढ़ेगी। लेकिन इसमें गैर-बराबरी और धार्मिक तनाव जैसे अंदरूनी मामले विस्तार में दिक्कतें पैदा कर सकते हैं। रिपोर्ट में कहा गया है कि भाजपा के हिंदुत्व एजेंडे को भारत की नीतिओं में घुसाया जा रहा है, जिससे भारत में अंदरूनी तनाव बढ़ रहा है। रिपोर्ट में कहा गया है, ‘भारत के सबसे बड़ा राजनीतिक दल भारतीय जनता पार्टी सरकार की नीतिओं में हिंदुत्व को घुसेड़ रहा है, जिसकी वजह से मुस्लिम अल्पसंख्यकों से तनाव बढ़ रहा है। इसके साथ ही मुस्लिम बहुल पड़ोसी देशों पाकिस्तान और बांग्लादेश के साथ भी तनाव बढ़ रहा है।’

रिपोर्ट में अगले 20 सालों में दुनिया पर असर डालने वाले अहम ट्रेंड्स की पहचान की जाती है। रिपोर्ट में कहा गया है कि तकनीक की वजह से आपस में जुड़ी दुनिया में विचार और पहचान को लेकर मतभेद बढ़ेंगे, लेकिन इससे पहचान की राजनीतिक को बढ़ावा मिलेगा। रिपोर्ट में कहा गया है, ‘भारत हिंदू राष्ट्रवादियों से कैसे निपटेगा और इजरायल धार्मिक कट्टरपंथियों के साथ कैसे संतुलन बनाएगा, यह भविष्य निश्चित करेगा।” साथ ही रिपोर्ट में कहा गया है कि कि आने वाले वर्षों में आतंकवाद की समस्या और ज्यादा बढ़ेगी। रिपोर्ट में भारत में ‘हिंसक हिंदुत्व’ और इसके साथ ही ‘उग्र ईसाई और इस्लाम’ का जिक्र किया गया था।

द ग्लोबल रिपोर्ट में कहा गया है कि भाजपा की हिंदुत्व की नीति पूरे भारत में टेंशन पैदा कर रही है। रिपोर्ट में कहा गया , ‘भारत की सबसे बड़ी राजनीतिक पार्टी भारतीय जनता पार्टी की भारत में हिंदुत्व को बढ़ावा दे रही है। मध्य अफ्रीका में उग्र ईसाई और इस्लाम, बर्मा में उग्र बुद्ध और भारत में हिंसक हिंदुत्व आतंक में ईंधन का काम करेगा।’

Share

Related

Latest