राजस्थान -रेप के बढते मामले ,महिलाओ को सुरक्षा देने में वसुंधरा भी असफल

राजस्थान -रेप के बढते मामले ,महिलाओ को सुरक्षा देने में वसुंधरा भी असफल

Posted by

राजस्थान पुलिस द्वारा जारी आंकड़ों की बात करें तो साल 2012 (जब निर्भया मामला सामने आया था) में पूरे राज्य से 2049 बलात्कार के मामले जोर शोर से उठाये गये थे।

मामला दिसंबर का था तो लगा कि अब आगे अपराधियों में इसे लेकर डर होगा लेकिन आश्चर्यजनक तरीके से साल 2013 में ही राजस्थान में रेप के मामले 3285 हो गए।

साल 2014 में रेप के मामले में और बढ़ोत्तरी हुई और मामले 3759 हो गये। 2015 में हालांकि, इसमें कुछ कमी आयी और प्रदेश में 3644 दुष्कर्म के मामले सामने आये।

इस साल की बात करें तो अक्टूबर 2016 तक रेप के 3231 मामले सामने आ चुके हैं।

मतलब साफ है कि चाहे लोग कितने भी कैंडल मार्च और प्रदर्शन निकाल लें, जबतक कानून का भय पैदा नहीं होगा और समाज में ऐसे संवेदनशील मामलों के प्रति जागरुकता नहीं आएगी, तबतक कितने भी कानून बनें, ऐसे मामले रुक नहीं सकेंगे।

आपको बता दे इस अवधि में भाजपा से पहले कांग्रेस की सरकार थी तब वसुंधरा ने महिलाओ की सुरक्षा को मुद्दा बनाया था लेकिन वो भी महिलाओ को सुरक्षा देने में कामयाब होती दिखाई नही दे रही है ।

सम्बंधित खबरे

error: Content is protected !!