बन्दर यहाँ ऐसा कहर बरपा रहे है कि रोजाना लोग दिन रात करते है रखवाली

बन्दर यहाँ ऐसा कहर बरपा रहे है कि रोजाना लोग दिन रात करते है रखवाली

Posted by

जयपुर

पहले कभी-कभार गांव की ओर नजर आने वाले बंदर अब गैंग बनाकर रहते हैं। अब शहर में में भी इनका आतंक दिनों दिन जोर पकड़ता जा रहा है। वह चाहे जिस मकान की छत पर कब्जा जमा लेते हैं, आंगन में धमाचौकड़ी मचाते हैं।

इतना ही नहीं, राह चलते लोगों पर भी ये हमला बोल देते हैं। उनके काटने की घटनाएं दिन वा दिन बढ़ती जा रही है। मंगलवार को जयपुर की सांगानेर की चार कॉलोनियों में बंदरों ने कई लोगों को काटा।

इसमें से पांच लोगों के खासी चोट आई है। जिम्मेदारों का कहना है कि ठेके बिना बंदर कैसे पकड़े।मंगलवार दोपहर में बंदरों के काटने की घटना सांगानेर की शिव कॉलोनी, अंबिका कॉलोनी, चौधरी कॉलोनी और आजाद नगर में हुई।

यहां बंदरों ने नवीन जैन को काटा, जिसे एसएमएस के ट्रोमा वार्ड में भर्ती करवाया गया। इसी तरह नवरतन मीणा, सुगना मीणा बंदर काटने से घायल हुए और इन्हें सांगानेर के एक निजी हॉस्पिटल में उपचार के लिए भेजा गया।

इसी तरह रामराज सैनी बंदरों से पीछा छुड़ाकर भागा तो भी बंदरों ने उसकी उंगली काट खाई। जबकि एक किशोर आयरन शर्मा को पीठ में काटकर घायल कर दिया।

ax5_1483468820.jpg

लोग कर रहे रखवाली
बंदरों के काटने की सूचना पर लोग लाठियां लेकर गलियों में एकत्र हो गए। लोगों ने रात तक घरों के बाहर पहरा दिया ताकि अन्य लोग बंदरों की चपेट में नहीं आए।

स्थानीय लोगों ने निगम व पुलिस थाने में भी शिकायत की, लेकिन कोई भी वहां नहीं पहुंचा।

ax2_1483468819.jpg

ये हैं बंदर पकड़ने के प्रभारी
निगम की बंदर पकड़ने की यूनिट के प्रभारी के मोइनुद्दीन कहा -बंदर पकड़ने का ठेका नहीं हो पाया। यह काम पहले कोटेशन पर करवाया जा रहा था। आगामी 9 तारीख को टेंडर किए जाएंगे। अगर टेंडर लेने वाली फर्म आती है तो काम शुरू हो जाएगा। तब तक बंदरों को निगम कैसे पकड़े।