मध्यप्रदेश:शिवराज के खानदान ने नर्मदा में खनन कर करप्शन से बेशुमार दौलत बनाई

मध्यप्रदेश:शिवराज के खानदान ने नर्मदा में खनन कर करप्शन से बेशुमार दौलत बनाई

Posted by

राज्य के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर बड़ा आरोप लगा है  कांग्रेस ने कहा है कि नर्मदा नदी के संरक्षण के लिए ‘नमामि देवी नर्मदे सेवा यात्रा’ निकालने वाले मुख्यमंत्री चौहान के परिजनों ने नदी से रेत खनन कर बेशुमार दौलत कमाई है।

कांग्रेस कार्यालय में बुलाए गए संवाददाता सम्मेलन में गुरुवार को कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता के.के. मिश्रा कहा कि राज्य में 144 दिन की सेवा यात्रा निकाली जा रही है। मुख्यमंत्री एक तरफ नर्मदा को मां कहते हैं, उनकी यह बात स्तुत्य है, मगर मुख्यमंत्री के ही गृह जिले सीहोर के आसपास के नर्मदा के घाटों से प्रतिदिन 800 से 1000 ट्रक-डंपर अवैध रूप से रेत का खनन और परिवहन हो रहा है। नर्मदा के घाटों पर रेत खनन के लिए 30 से 50 पोकलेन और जेसीबी मशीनें चल रही हैं।

मिश्रा का आरोप है कि ट्रकों-डपरों, जेसीबी, पोकलेन मशीनों पर चौहान इंटरप्राइज व चौहान ब्रदर्स लिखा हुआ है। इन वाहनों के मालिक कौन है, इसका खुलासा होना जरूरी है। हकीकत यह है कि इन मशीनों और वाहनों के वास्तविक मालिक मुख्यमंत्री के परिजन हैं। यही कारण है कि इन वाहनों से होने वाले हादसों के आरोपियों पर कभी कोई कार्रवाई नहीं होती।

मिश्रा का आरोप है कि रेत माफियाओं ने रेत चोरी करने के लिए सीहोर जिले की सीमा जोशीपुर-जर्रापुर क्षेत्र में नर्मदा नदी पर 600 मीटर लंबा अस्थायी पुल भी बना दिया है, जहां से रात-दिन ट्रॉली-डंपरों की आवाजाही जारी है।

उन्होंने मुख्यमंत्री से सवाल किया कि जीवनदायिनी ‘मां नर्मदा’ के प्रति सम्मान दिए जाने की गुजारिश करने वाले मुख्यमंत्री क्या यह भी बताएंगे कि अवैध कारोबार करने वालों को किसका राजनीतिक संरक्षण प्राप्त है?

कांग्रेस नेता ने मुख्यमंत्री से मांग की है कि वह यह भी सार्वजनिक करें कि नर्मदा नदी से रेत का अवैध भंडारण, खनन, परिवहन और कालाबाजारी करने वाले समूह में आखिरकार कौन लोग हैं।

Loading...