भाजपा नेता के बेटे द्वारा IAS की बेटी से छेड़छाड़ का सुबूत मिटाने का पुलिस पर लगा आरोप

भाजपा नेता के बेटे द्वारा IAS की बेटी से छेड़छाड़ का सुबूत मिटाने का पुलिस पर लगा आरोप

Posted by

हरियाणा बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष सुभाष बराला के बेटे द्वारा कथित छेड़छाड़ प्रकरण में चंडीगढ़ पुलिस की कार्रवाई कटघरे सवालों में आ गई है। आरोपियों के खिलाफ धाराओं में बार-बार बदलाव ने शक तो पैदा किया ही हुआ है, आरोपियों की थाने में आवभगत होने की भी बातें सामने आई हैं। वहीं, हमारे सहयोगी न्यूज चैनल ‘टाइम्स नाउ’ के हवाले से आ रही खबरों के मुताबिक वारदात की जगहों से सीसीटीवी फुटेज भी गायब हैं। इस बीच आईएएस असोसिएशन भी पीड़ित युवती के समर्थन में खड़ी हो गई है। असोसिएशन ने इस मामले पर हैरानी जताते हुए दोषी को सजा देने की मांग की है। 
इस हाइप्रोफाइल मामले में पुलिस की कार्यशैली सवालों के घेरे में है। आरोपियों के खिलाफ आईपीसी की धारा 354 डी और मोटर वीकल ऐक्ट की धारा 185 के तहत मामला दर्ज किया था, लेकिन कुछ ही घंटों में मामले में धारा 341, 365 और 511 को जोड़ दिया गया। तीसरी बार केवल धारा 341 को ही जोड़ा गया। इतनी तेजी से धाराओं में बार-बार बदलाव से जब चंडीगढ़ पुलिस की फजीहत हुई तो कहा गया कि धारा 365 और 511 के लिए कानूनी राय ली जाएगी।

Loading...