CBI ने TMC के एक और एमपी को किया अरेस्ट,ममता बोली- मोदी और शाह को भी जेल भेजा जाए

CBI ने TMC के एक और एमपी को किया अरेस्ट,ममता बोली- मोदी और शाह को भी जेल भेजा जाए

Posted by

नई दिल्ली

ममता बनर्जी के सबसे करीबी माने जाने वाले तृणमूल कांग्रेस के सांसद सुदीप बंधोपाध्याय को मंगलवार को रोज वैली घोटाले में गिरफ्तार कर लिया गया। सीबीआई ने सुदीप को पूछताछ के लिए बुलाया था।

इसके बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया। 31 दिसंबर को इसी मामले में टीएमसी के एक और सांसद तापस पाल भी गिरफ्तार किए गए थे।

रोज वैली चिट फंड घोटाला करीब 15 हजार करोड़ रुपए का बताया जाता है। सुदीप की गिरफ्तारी से नाराज ममता बनर्जी ने कहा- नरेंद्र मोदी और अमित शाह को भी अरेस्ट किया जाना चाहिए।

वहीं, कोलकाता में बीजेपी हेडक्वाॅर्टर पर कथित तौर पर टीएमसी यूथ विंग ने हमला कर दिया। दोनों के वर्कर्स के बीच मारपीट भी हुई।

1_1483440780.jpg

मंगलवार को सीबीआई ऑफिस पहुंचे, सुदीप ने गिरफ्तारी से पहले कहा था कि वो यहां अपनी बात कहने आए हैं। सुदीप के अलावा, पूर्व में गिरफ्तार किए गए तापस पाल की बेटी सोहिनी भी सीबीआई के सवालों का जवाब देने पहुंचीं। उनसे पूछताछ भुवनेश्वर में हुई। सोहिनी से पहले भी पूछताछ हो चुकी है।

ममता ने क्या कहा?
सुदीप की गिरफ्तारी से नाराज ममता ने कहा- मोदी और शाह की गिरफ्तारी भी होनी चाहिए। मोदी को तो भारत की राजनीति की समझ ही नहीं है।
ममता ने आगे कहा- सरकार के खिलाफ कई पार्टियां बोलना चाहती हैं लेकि इमरजेंसी जैसे हालात के चलते डरी हुई हैं। लोगों को नोटबंदी के खिलाफ सड़क पर उतर आना चाहिए।

कांग्रेस का ममता पर निशाना
नोटबंदी पर कांग्रेस और टीएमसी मोदी सरकार के विरोध में साथ नजर आईं थीं। लेकिन इस मामले पर कांग्रेस ने टीएमसी को घेरने की कोशिश की।

कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने कहा- घोटालों की वजह से बंगाल की इमेज खराब हो चुकी है। यह केस कोर्ट के कहने पर रजिस्टर्ड किया गया है।

इसलिए आप ये नहीं कह सकते कि ये राजनीतिक बदले के तौर पर किया जा रहा है। लेकिन, सीबीआई केंद्र के इशारे पर काम कर रही है।

सीपीआईएम ने स्वागत किया
सुदीप की गिरफ्तारी का सीपीआईएम ने स्वागत किया। पार्टी नेता मोहम्मद सलीम ने कहा- हम सीबीआई के कदम का स्वागत करते हैं। लेकिन ये गिरफ्तारी बहुत देर बाद की गई है। अब जांच ममता के दरवाजे तक पहुंचेगी।
सलीम ने कहा कि रोज वैली स्कैम सारधा घोटाले से सात गुना बड़ा घोटाला है।

क्या है रोज वैली घोटाला?
रोज वैली कंपनी ने देश के कई डिपॉजिटर्स से करीब 15 हजार करोड़ रुपए लिए। ज्यादातर पैसा पश्चिम बंगाल, असम और बिहार से लिया गया।
मार्च 2015 में ईडी ने रोज वैली के चेयरमैन गौतम कुंडु को पूछताछ के लिए बुलाया। बाद में उन्हें गिरफ्तार किया गया।- इस मामले की जांच सीबीआई को सौंपी गई। ईडी ने जांच के दौरान कहा था कि चिट फंड घोटाले में नेताओं को रिश्वत दी गई। रोज वैली के भारत में 23 होटल भी बताए जाते हैं।

ब्रेकिंग न्यूज़
error: Content is protected !!