नोटबंदी से कराह रहे है किसान,फ्री में बाट दी 100 टन सब्जियां

नोटबंदी से कराह रहे है किसान,फ्री में बाट दी 100 टन सब्जियां

Posted by

रायपुर

नोटबंदी से तंग किसानों ने मेहनत से उगाई सब्ज़ियों को राजधानी रायपुर में मुफ़्त में बांट दिया। शहर के बूढ़ा तालाब धरनास्थल पहुंचे नाराज़ किसानों ने 100 टन सब्ज़ियां मुफ़्त में बांट दीं। सब्ज़ियां लेने के लिए सुबह से शाम तक लोगों की क़तार लगी रहीं।

दरअसल, पिछले कुछ दिनों में सब्जियों की भारी पैदावार की वजह से कीमत में कमी आई है। किसानों ने कहा कि राज्य में टमाटर, शिमला मिर्च, केला, मिर्च और बंद गोभी समेत अनेक सब्जियों के दाम गिर गए हैं। ऐसे में सब्जी उत्पादक किसानों को फसल की उचित कीमत नहीं मिल पा रही है।

विरोध में बांटी 100 टन सब्जियां
छत्तीसगढ़ प्रगतिशील किसान संघ के नेता राजकुमार गुप्ता ने कहा कि यह प्रदेश के किसानों का विरोध है। इस साल अनुकूल मौसम के कारण न केवल अनाज की फसलों बल्कि सब्जियों का भी अच्छा उत्पादन हुआ था, लेकिन, नोटबंदी के कारण किसानों को झटका लगा है। यही वजह है कि छत्तीसगढ़ जैसे धान और सब्जी उत्पादक राज्य में किसान हताश और निराश हैं।

नोटबंदी का भी आंशिक असर : कृषि मंत्री
हालांकि राज्य सरकार ने इस समस्या से निपटने के लिए जरूरी उपाय करने का आश्वासन दिया है। इधर, राज्य के कृषि मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि सब्जी उत्पादक किसानों की यह स्थिति इस बार इसलिए बनी क्योंकि बाहर के व्यापारी सब्जी लेने छत्तीसगढ़ नहीं पहुंचे। हालांकि नोटबंदी का भी आंशिक असर रहा।

बता दें कि इससे पहले भी मंडी में सब्जी के भाव नहीं मिलने पर किसान अपना गुस्सा उतार चुके हैं। जशपुर और धमतरी जिले में सब्जी की उपज का भाव नहीं मिलने से किसानों ने सड़कों पर टमाटर बिखेर दिया था।