जानिए प्राचीन काल में गर्भवती होने से बचने के लिए महिलाए क्या करती थी

जानिए प्राचीन काल में गर्भवती होने से बचने के लिए महिलाए क्या करती थी

Posted by

अनचाहे गर्भ से रोकने के लिए आजकल कई साधन है लेकिन अगर आप ये सोचते है प्राचीन समय में महिलाए गर्भ को रोकने के लिए कोई विधि नही अपनाती थी तो आप गलत है प्राचीन समय में भी विभिन्न इलाको में अनचाहे गर्भ को रोकने के लिए महिलाए अलग अलग विधिया अपनाती थी,जानिए किस प्रकार अनचाहा गर्भ रोका जाता था..

चीन में पारे के घोल से गर्भ को रोका जाता था..
चीन में गर्भ को रोकने या नष्ट करने के लिए महिलाओं को तेल और पारा का घोल पिलाया जाता था. पारा शारीर में जहर का काम भी करता था,जिसकी वजह से महिलाओं को कभी-कभी बाँझपन का भी शिकार होना पड़ता था.

ग्रीस में महिलाए जैतून का तेल का करती थी इस्तेमाल…
ग्रीस की महिलाएं जैतून के तेल में दावेदार का तेल मिलाकर गुप्तांग में लगाती थी, जिसके बाद वो गर्भवती होने से बच जाती थी.


शहद के इस्तेमाल भी किया जाता था ..

इस नुस्खे का इस्तेमाल प्राचीन काल के अलावा आज भी किया जाता है, शारीरिक संबंध बनाने से पहले महिलाएं अपने गर्भाश्य पर शहद लगा लेती हैं जोकि सेक्स के दौरान अवरोध का काम भी करता है.

ग्रीस और रोमन महिलाए ये करती थी …
ग्रीक और रोमन के लोग जानवरों के आंत से अपने गुप्तांग के लिए कवर बना लेते थे, जोकि गर्भ के साथ-साथ संक्रमण से भी बचाता था.

गाजर का भी होता था इस्तेमाल

प्राचीन काल में कई जगहों पर सेक्स के दौरान गर्भावस्था को रोकने के लिए जंगली गाजर का प्रयोग किया जाता था, लेकिन यह ज्यादा प्रोटेक्टिव ना होने के कारण इसे बाद में बंद कर दिया गया.

Loading...